{Latest 2022} पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी और कविता

आज की यह पोस्ट पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी और पुण्यतिथि पर कविता के लिए लिखी गयी है। जिन्हें पुण्यतिथि पर स्टेटस और सन्देश के लिए श्रद्धांजलि शायरी साझा की गयी है। यह पोस्ट में पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश In Hindi पर लिखी गयी है। इसके अलावा कुछ श्लोक भी लिखे गए है जो कि पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश In Sanskrit पर लिखे गए है।

पुण्यतिथि-पर-श्रद्धांजलि-शायरी

पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी

अच्छे इंसान हमारे दिल में इस तरह जगह बना लेते है,
कि मरने के बाद भी वो हमारे दिलों में अमर हो जाते है !

Achchhe Insan Hamare Dil Mein Is Tarah Jagah Bana Lete Hai,
Ki Marane Ke Baad Bhi Wo Hamare Dilo Mein Amar Ho Jate Hai.

चांद सितारे करते है आपका वंदन,
शीश झुकाकर करते है हम
आपके चरणों में कोटि कोटि नमन !

Chand Sitare Karte Hai Aapka Vandan,
Shish Jhukakar Karte Hai Hum
Aapke Charno Me Koti Koti Naman.

माना कि जाने वाले कभी लौटकर नहीं आते है,
पर अपनी यादों से वो अपनों के दिलों को रुला जाते है !

Mana Ke Jaane Wale Kabhi Laut Kar Nahi Aate Hai,
Par Apni Yaadon Se Wo Apno Ke Dilo Ko Rula Jaate Hai.

वक्त के साथ जख्म तो धीरे धीरे भर जाते है,
पर जो चले गए वो लौटकर वापस नहीं आते है !

Vakt Ke Sath Jakhm To Dheere Dheere Bhar Jate Hai,
Par Jo Chale Gaye Wo Lautakar Wapas Nahi Aate Hai.

फुलों जैसी जिंदगी आप शेर के जैसे जीकर गए,
हमें जिंदगी के इस बीच मझधार में छोड़कर गए !

Phulon Jaisi Jindagi Aap Sher Ke Jaise Jeekar Gaye,
Hume Jindagi Ke Is Bich Majhdhar Me Chhodkar Gaye.

जिंदगी एक ऐसी जंग है जो सभी को हार जाना है,
इस दुनिया से नाता तोड़ कही और चले जाना है !

Jindagi Ak Aisi Jang Hai Jo Sabhi Ko Har Jana Hai,
Is Duniya Se Nata Tod Kahi Aur Chale Jana Hai.

Also Read: माँ की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश

पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश In Sanskrit

नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावकः।
न चैनं क्लेदयन्त्यापो न शोषयति मारुतः।।

जातस्य हि ध्रुवो मृत्युर्ध्रुवं जन्म मृतस्य च।
तस्मादपरिहार्येऽर्थे न त्वं शोचितुमर्हसि।।

जातस्य हि लब्धजन्मनः ध्रुवः अव्यभिचारी मृत्युः मरणं ध्रुवं जन्म मृतस्य च।
तस्मादपरिहार्योऽयं जन्ममरणलक्षणोऽर्थः।
तस्मिन्नपरिहार्येऽर्थे न त्वं शोचितुमर्हसि।
कार्यकरणसंघातात्मकान्यपि भूतान्युद्दिश्य शोको न युक्तः कर्तुम् यतः।।

अजो अपि सन्नव्यायात्मा भूतानामिश्वरोमपि सन।
प्रकृतिं स्वामधिष्ठाय संभवाम्यात्ममायया।।

अव्यक्तादीनि भूतानि व्यक्तमध्यानि भारत।
अव्यक्तनिधानान्येव तत्र का परिदेवना ।।

Also Read: पिता की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश 

पुण्यतिथि पर कविता

जीवन की यही एक सच्ची कहानी है,
मौत तो एक दिन सबको आनी है,
आज जवानी कल बुढ़ापे की कहानी है,
बीते कल ये शुरू हुई थी,
आने वाले कल ये ख़त्म हो जानी है !

Jeevan Ki Yahi Ek Sacchi Kahani Hai,
Maut To Ek Din Sabako Aani Hai.
Aaj Jawani Kal Budape Ki Kahani Hai,
Beete Kal Ye Shuru Huyi Thi,
Aane Wale Kal Ye Khatm Ho Jaani Hai.

एक सुरज था जो कि तारों के घराने से उठ गया,
जो कल सबके जीवन में उजाला लाता था,
आज वो रात के अंधेरे में जाने कहां छुप गया
आंखें भी हैरान है देखकर
क्या शख्स था वो जो अब इस जमाने से चला गया !

Ek Suraj Tha Jo Ki Taaro Ke Gharane Se Chala Gaya,
Jo Kal Sabe Jeevan Mein Ujala Laata Tha,
Aaj Wo Raat Ke Adhere Mein Jaane Kahan Chup Gaya,
Aankhen Bhi Hairan Hai Dekhaker
Kya Shakhs Tha Wo Jo Ab Is Jamane Se Chala Gaya.

एक बार जाने वाले कभी लौटकर वापस नही आते,
लेकिन जाने वालों की याद हमें बहुत आती है !

Ak Bar Jane Wale Kabhi Lautkar Wapas Nahi Aate,
Lekin Jane Walon Ki Yad Hume Bahut Aati Hai.

सुना हो गया ये घर-आंगन आपके चले जाने से,
जैसे बदल जाती है प्रकृति मौसम के चले जाने से,
आपकी यादों के सहारे अपना जीवन कैसे बिताये ,
आपका मुस्कुराता चेहरा अपनी यादों से कैसे भुलाये !

Suna Ho Gaya Ye Ghar-aangan Aapke Chale Jane Se,
Jaise Badal Jati Hai Prakrti Mausam Ke Chale Jaane Se,
Aapki Yaadon Ke Sahare Hum Apna Jeevan Kaise Bitaye,
Aapka Muskurata Chehra Apni Yaadon Se Kaise Bhulaye.

जिंदगी में आपके बिना कुछ कमी सी लगती है,
चेहरे पर भले ही मुस्कुराहट हो
फिर भी आंखों में नमी सी लगती है,
जब से आप हमें इस दुनिया से छोड़कर गए
तब से ये जिंदगी आपके बिना थमी सी लगती है !

Jindagi Me Aapke Bina Kuchh Kami Si Lagti Hai,
Chehre Par Bhale Hi Muskurahat Ho
Phir Bhi Aankhon Me Nami Si Lagti Hai,
Jab Se Aap Hume Is Duniya Se Chhodkar Gaye
Tab Se Ye Jindagi Aapke Bina Thami Si Lagti Hai.

Content Are: पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि शायरी, पुण्यतिथि पर कविता, पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश In Hindi, पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश In Sanskrit.

Also Read: Barsi Invitation Message In Hindi