पुण्यतिथि का मतलब क्या होता है – पुण्यतिथि और जन्मतिथि में क्या अंतर है ?

पुण्यतिथि का मतलब : आज इस पोस्ट में आपको बताया गया है कि पुण्यतिथि क्या है यानी पुण्यतिथि का मतलब क्या होता है और पुण्यतिथि कब मनाई जाती है, इसके अलावा हम आपको बताएँगे कि पुण्यतिथि और जन्मतिथि में क्या अंतर है या जयंती और पुण्यतिथि में क्या अंतर है। यानी कि इस पोस्ट के पुण्यतिथि से जुड़े आपके मन में जो भी सवाल है उनका उत्तर आपको प्राप्त हो जायेगा।

पुण्यतिथि-और-जन्मतिथि-में-क्या-अंतर-है
पुण्यतिथि का मतलब

इसके अलावा यदि आप किसी के जन्मदिन पर या पुण्यतिथि पर मैसेज खोज रहे है तो इसके लिए हमारी वेबसाइट पर इसके लिए कई पोस्ट लिखी जा चुकी है जिनकी लिंक आपको इसी पोस्ट में मिल जाएगी, आप उन्हें भी पढ़ सकते है।

पुण्यतिथि का मतलब – पुण्यतिथि और जन्मतिथि में क्या अंतर है

पुण्यतिथि: जिस दिन या तिथि (तारीख) को किसी की मृत्यु होती है तो उस दिन को पुण्यतिथि कहते है, यह दिन मृत इंसान की याद में उनके मरण दिन पर आता है, जिसे पुण्यतिथि के रूप में मनाया जाता है।

जन्मतिथि: जिस दिन या तिथि (तारीख) को किसी का जन्म होता है तो उसे हम जन्मतिथि कहते है, यह दिन उस व्यक्ति के जन्म का उत्सव मनाने के लिए हर साल मनाया जाता है, जिसे हम सामान्य भाषा में जन्मदिन भी कहते है।

अगर सामान्य शब्दों में जन्मतिथि और पुण्यतिथि को समझाया जाये तो किसी व्यक्ति के जन्म की तिथि या तारीख उसकी जन्मतिथि कहलाती है और उसकी मृत्यु की तिथि या तारीख उसकी व्यक्ति की पुण्यतिथि कहलाती है।

यानी की जन्मतिथि या जन्मदिन, जीवित लोगो के लिए उनके जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है और पुण्यतिथि किसी मृत व्यक्ति की याद में मनाया जाता है।

तो हमें उम्मीद है इस पोस्ट के माध्यम से आपको यह समझ में आ गया होगा कि जन्मतिथि और पुण्यतिथि किसे कहते है और इन दोनों में अंतर क्या है, अगर यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी रही हो तो इस जानकारी को अधिक से अधिक लोगों में शेयर करें। धन्यवाद

Also Read: पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश हिंदी

Also Read: जन्मोत्सव, जयंती और जन्मदिन में अंतर